WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

मोहन यादव सरकार 4.77 लाख लाड़ली बहनों को आवास देने की तैयारी में

मध्य प्रदेश में लाड़ली बहना योजना को लागू के लगभग 1 वर्ष बीत चुका है। मध्य प्रदेश में लाडली बहनों को अब तक आठ किस्त मिल चुकी है। मध्य प्रदेश के मोहन यादव सरकार द्वारा लाडली बहनों के खाते में डाली गई प्रथम किस्त आठवीं किस्त थी। लाडली बहनों की नवीन किस्त को लेकर भी कैबिनेट में चर्चा की गई। मध्य प्रदेश के मोहन यादव सरकार द्वारा भले ही कई कल्याणकारी योजनाएं बंद कर दी गई हो लेकिन गांव की बेटी योजना, सीखो कमाओ योजना, संबल कार्ड, लाडली बहना योजना, साथ ही साथ लाडली आवास योजना इन योजनाओं को बंद नहीं किया है।

योजनालाड़ली बहना योजना
आवास मिलने की संख्या4.77 लाख
किस्त1.40 लाख रुपए
पात्रतामध्यप्रदेश की लाड़ली बहना योजना में शामिल पात्र

शिवराज सरकार द्वारा पहले से जारी महत्वाकांक्षी योजनाओं में लाडली लक्ष्मी योजना को भी अनवरत जारी रखा जाएगा। मोहन यादव सरकार द्वारा कैबिनेट बैठक में प्रदेश के ही युवाओं को नौकरी देने की बात कही गई।

लाड़ली बहना योजना की नवीन किस्त 10 फरवरी को लाडली बहनों के खातों में माननीय मुख्यमंत्री मोहन यादव जी द्वारा ट्रांसफर कर दी जाएगी। कैबिनेट बैठक में प्रतियोगी परीक्षाओं के परीक्षा परिणाम से संबंधित चर्चा भी की गई। 2023 में ली गई प्रतियोगी परीक्षाओं में पटवारी भर्ती परीक्षा एवं पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा के रिजल्ट भी फरवरी के अंत तक व्यापम जारी कर देगा।

आवास योजना की किस्त पाने के लिए आवश्यक दस्तावेज

लाडली बहना आवास योजना के अंतर्गत आवास की किस्त पाने के लिए लाडली बहनों के पास लाडली सर्टिफिकेट होना अति आवश्यक है। साथ ही साथ लाडली बहनों को मनरेगा जॉब कार्ड भी बनवाना अति आवश्यक है, क्योंकि जब लाडली बहना आवास योजना के अंतर्गत आवास की किस्त दी जाएगी तो साथ ही साथ मजदूरी का पैसा भी दिया जाएगा। मजदूरी के पैसे के लिए मनरेगा जॉब कार्ड होना अति आवश्यक है।

Leave a Comment