WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

कक्षा 11 फसल उत्पादन का पेपर वायरल एमपी बोर्ड वार्षिक 2024 परीक्षा

सोशल मीडिया के तमाम प्लेटफार्म पर परीक्षा से 2 घंटे पहले फसल उत्पादन का पेपर वायरल होने से पूरे प्रदेश के विद्यार्थियों में असंतोष फैल गया । इंटरनेट पर फसल उत्पादन के वायरस पेपर को डाउनलोड करने के लिए आपको इस आर्टिकल में पूरी प्रक्रिया बताई जाएगी और आपको इस आर्टिकल में वही पेपर मिलेगा जो इंटरनेट पर वायरल है।
पेपर वायरल कभी हो ही नहीं सकता अगर सरकार परीक्षा को आयोजित कराया जाए लेकिन कभी-कभी सरकार लापरवाही कर देती है।

फसल उत्पादन के पेपर यहां से करें डाउनलोड–

फसल उत्पादन का पेपर डाउनलोड करने के लिए आपको कुछ अन्य प्रक्रियाएं नहीं करना है इसी वेबसाइट पर आपको पेपर डाउनलोड करने के लिए लिंक दी जाएगी जहां पर क्लिक करके बड़ी आसानी के साथ अपने हिसाब से जिस भी फॉर्मेट में चाहते हो वहां से डाउनलोड कर सकते हैं। इसके अलावा आप अन्य वायरल पेपर को भी यहां से डाउनलोड कर सकते हैं लेकिन पेपर के वायरल होने की पुष्टि हमारी वेबसाइट नहीं करती।

पेपर वायरल कैसे होता है?

पेपर के वायरल होने का सबसे बड़ा कारण सोशल मीडिया होता है क्योंकि सोशल मीडिया पर टेलीग्राम और व्हाट्सएप जैसे सॉफ्टवेयर पर विद्यार्थी एक दूसरे से तालमेल बैठे हैं और कई तरह की बातचीत करते हैं। सोशल मीडिया पर चैटिंग के दौरान विद्यार्थी एक दूसरे को परीक्षा की सामग्री शेयर करते हैं और इसी के साथ विद्यार्थियों के दिमाग में परीक्षा से पहले पेपर प्राप्त करने का तरीका आता है। और यही तरीका विद्यार्थियों को बाद में नुकसान पहुंचता है क्योंकि पेपर माफिया कुछ तरीका निकाल लेते हैं और पेपर वायरल करवा देते हैं जिसका भुगतान विद्यार्थियों को ही भुगतना पड़ता है।

पेपर के वायरल होने का दावा –

पेपर के वायरल होने का दवा हमारी वेबसाइट नहीं करती और ना ही पेपर के वायरल होने की पुष्टि माध्यमिक शिक्षा मंडल की तरफ से हुई है जब तक माध्यमिक शिक्षा मंडल की तरफ से पेपर के वायरल होने की पुष्टि नहीं हो जाती तब तक सोशल मीडिया पर कोई बड़ा एक्शन नहीं लिया जाएगा और ना ही सरकार की तरफ से कोई नोटिफिकेशन जारी किया जाएगा । पेपर के वायरल होने की पुष्टि अगर शिक्षा विभाग को हो जाती है तो निश्चित रूप से कोई बड़ा कदम उठाए जा सकता है।

विद्यार्थियों का होगा भविष्य खराब –

पेपर के वायरल होने पर विद्यार्थियों की भविष्य पर गहरा प्रभाव पड़ा है क्योंकि अगर शिक्षा विभाग में कोई बड़ा कदम उठाया तो निश्चित रूप से विद्यार्थियों को इसका भुगतान करना पड़ सकता है। विद्यार्थियों के लिए उनके जीवन की सबसे बड़ी पूंजी समय होती है और अगर किसी परीक्षा की वजह से विद्यार्थियों का समय बर्बाद हो जाता है तो निश्चित रूप से यह बहुत ही निंदनीय होगा।

Leave a Comment