WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Class 9 Science Paper Annual Exam 23 March 2024 MP Board

सोशल मीडिया पर कक्षा 9वीं का पेपर वायरल होने पर हड़कंप मचा हुआ है लेकिन आखिर में यह पेपर वायरल कैसे हो जाते हैं और सरकार इन पर कोई कड़ी निगरानी क्यों नहीं करती। इंटरनेट पर पेपर के वायरल होने का सबसे बड़ा जरिया टेलीग्राम है क्योंकि टेलीग्राम पर सभी विद्यार्थी चैनल के माध्यम से एकत्रित होते हैं और उन पर परीक्षा से संबंधित और पेपर से संबंधित डिस्कशन होता है ।

किसी पेपर के वायरल होने पर सबसे ज्यादा कोई परेशान होने वाला होता है तो वह विद्यार्थी होता है ना कि सरकार क्योंकि सरकार को कंफर्म होने के बाद ही डिसीजन लेना होता है लेकिन अगर फर्जी पेपर भी वायरल हुआ है तभी विद्यार्थी को इसकी चिंता हो जाती है । सोशल मीडिया पर कैसे पेपर वायरल हो जाते हैं आईए जानते हैं आज के इस आर्टिकल में विस्तार से क्या है पूरी खबर।

यहां से कीजिए पेपर को डाउनलोड –

Science का पेपर डाउनलोड करने के लिए आपको कुछ नहीं करना है नीचे दिए गए लिंक पर बड़ी आसानी से क्लिक करके आप डाउनलोड कर सकते हैं और आपके यहां पर वही पेपर मिलेगा जो इंटरनेट पर वायरल हुआ है। वायरल पेपर को डाउनलोड करने के लिए आपको तरीका बता दिया गया है लेकिन जो पेपर वायरल हुआ है इसकी पुष्टि हमारी वेबसाइट नहीं करती और ना ही यह कहा जा सकता कि यह पेपर ही ओरिजिनल है। इस तरह के प्रलोभन वेबसाइट पर दिए जाते हैं, इस तरह के झांसे में बिल्कुल भी मत आएं।

पेपर के वायरल होने की हकीकत–

पेपर के वायरल होने की सबसे बड़ी हकीकत यह है कि विद्यार्थियों में इसकी लापरवाही हो जाती है और चाहे कोई कितना भी करें अगर पेपर सभी विद्यार्थियों के पास सोशल मीडिया के माध्यम से पहुंच रहा है तो यह निश्चित रूप से किसी न किसी के माध्यम से वायरल हो ही जाएगा। सोशल मीडिया एक ऐसा सशक्त माध्यम है जिसके माध्यम से कई विद्यार्थियों को जोड़ा जाता है और उन्हें में से किसी के कारण पेपर वायरल कर दिया जाता है।

टेलीग्राम बना पेपर के वायरल होने का सबसे बड़ा जरिया–

टेलीग्राम सॉफ्टवेयर ज्यादातर विद्यार्थी उसे करते हैं और इसके अलावा अन्य कोचिंग प्लेटफार्म वाले भी इस्तेमाल करते हैं क्योंकि इसमें विद्यार्थियों को एकत्रित किया जाता है और ग्रुप के माध्यम से पढ़ाई से संबंधित डिस्कशन किए जाते हैं । कई प्रकार के पीएफ और डॉक्यूमेंट यहां पर लिक के माध्यम से शेयर किए जाते हैं और डायरेक्ट भी भेजे जाते हैं । सोशल मीडिया पर टेलीग्राम एक ऐसा सॉफ्टवेयर है जो पेपर के वायरल होने का सबसे बड़ा जरिया बना है।

विद्यार्थियों का हुआ सर्वनाश –

पेपर के वायरल होने पर यह नहीं कहा जा सकता कि विद्यार्थियों का नुकसान नहीं हुआ है हो सकता है विद्यार्थियों को सरकार के कड़े नियम का सामना करना पड़े इसके बारे में अभी कोई जानकारी नहीं है । आने वाले समय में विद्यार्थियों के साथ कोई अन्य नियम का पालन करवाया जा सकता है और हो सकता है कि पेपर के वायरल होने पर विद्यार्थियों की परीक्षा परिणाम पर भी इसका असर आ जाए। वायरल पेपर को हमारी वेबसाइट पर दी गई लिंक के माध्यम से डाउनलोड कर सकते हैं लेकिन जो पेपर वायरल हुआ है इसकी पुष्टि हमारी वेबसाइट नहीं करती।

Leave a Comment