WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

आयुष्मान भारत योजना में 5 दिन के अंदर पाएं कार्ड, पाएं 5 लाख तक फ्री इलाज

आयुष्मान भारत योजना को शुरू करने के पीछे का सबसे बड़ा उद्देश्य यह है कि हमारे देश में महंगाई के कारण गरीबों और असहायों को इलाज नसीब नहीं होता इसीलिए सरकार ने यह योजना शुरू की है जिसमें ₹500000 तक का 1 साल में फ्री इलाज करवाया जाएगा जिसमें निर्धन और गरीब लोगों को शामिल किया गया है। आज के आर्टिकल में हम बात करेंगे कि आयुष्मान भारत योजना के तहत किस तरीके से लोगों को लाभ मिलेगा और आयुष्मान भारत योजना के लिए आवेदन किस तरीके से किया जा सकता है।

आयुष्मान भारत योजना की शुरुआत –

आयुष्मान भारत योजना की शुरुआत 1 अप्रैल 2018 को हुई थी । इसकी शुरुआत स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के द्वारा की गई थी हालांकि इसका प्रारूप और एलान प्रधानमंत्री मोदी जी के द्वारा किया गया था। इस योजना की शुरुआत करने के समय 2000 करोड रुपए का बजट निर्धारित किया गया था । यह योजना एक तरीके से स्वास्थ्य बीमा योजना की तरह काम करती है इसमें 5 लाख रुपए तक का आर्थिक भुगतान सरकार के द्वारा किया जाता है ।

आयुष्मान भारत योजना का प्रमुख उद्देश्य–

आयुष्मान भारत योजना का प्रमुख उद्देश्य यह है कि आर्थिक रूप से कमजोर लोगों को एक बेहतरीन इलाज उपलब्ध करवाना ताकि उनकी जिंदगी भी बेहतर हो सके। जीवन जीने के लिए एक अच्छा स्वास्थ्य होना और अच्छा शरीर होना बहुत आवश्यक है अगर किसी बीमारी के कारण हमारा शरीर टूटता है और इसका इलाज नहीं होता है तो वह एक बड़ी बीमारी का रूप ले लेती है और धीरे-धीरे बिना समय के ही मौत हो जाती है।

हमारे देश में आज भी इतनी आर्थिक स्थिति खराब है कि गरीब लोग अपना बेहतर इलाज नहीं करा पाते क्योंकि बीमारियों का खर्च इतना ज्यादा आ जाता है कि उनके पास लाखों रुपए नहीं होते। इसीलिए सरकार के द्वारा इस योजना को शुरू किया गया है ताकि आर्थिक रूप से कमजोर लोग जो अपना इलाज नहीं करवा पाए उनके लिए सरकार के द्वारा एक साल में 5 लाख रुपए तक का आर्थिक भुगतान किया जाएगा ताकि उनका बेहतर इलाज हो सके ।

इस योजना के माध्यम से लाभान्वित होने वाले कल्याण केंद्र–

आयुष्मान भारत योजना के द्वारा महिलाओं से संबंधित सभी प्रकार की बीमारियां और सहयोग दिया जाता है जैसे यदि किसी गर्भावस्था महिला को इलाज की जरूरत है या फिर उनके कई तरह से सहयोग जो केवल अस्पताल नहीं हो सकते हैं उनका सारा खर्चा सरकार के द्वारा उठाया जाता है।

बाल अवस्था के रोग भी कितने ही गंभीर क्यों ना हो लेकिन उसका इलाज बड़ी आसानी से करवाया जा सकता है क्योंकि अब सरकार के द्वारा एक उम्मीदवार को 1 साल में 5 लाख रुपए तक का फ्री इलाज करवाया जाता है।

शारीरिक बीमारी और मानसिक बीमारी के साथ-साथ गैर संक्रामक रोग और संक्रामक रोग सभी का इलाज बड़ी आसानी से करवाया जाएगा क्योंकि कई प्रकार के रोग ऐसे होते हैं जो एक दूसरे से फैलते हैं यदि उनका इलाज नहीं करवाया गया तो आगे चलकर पूरी मानव पीढ़ी के लिए भी वह चीज खतरे के लिए होती है।

आयुष्मान कार्ड बनवाने के लिए आवश्यक दस्तावेज और पात्रता–

  1. आधार कार्ड
  2. पैन कार्ड
  3. वोटर कार्ड
  4. ड्राइविंग लाइसेंस
  5. समग्र आईडी
  6. मोबाइल नंबर

Leave a Comment