WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

लाड़ली बहनों के लिए जरूरी सूचना, अगली 14वीं किस्त में मिलेंगे 1500 रुपए : पढ़ें ये निर्देश

सरकार द्वारा लाडली बहना योजना के अंतर्गत अभी तक 13 किस्तें लाडली बहनों को दी जा चुकी है। 13वीं किस्त 6 जून को रात के 11:00 बजे मोहन यादव सरकार द्वारा महिला सशक्तिकरण के उपलक्ष्य में लाडली बहनों को दी जा चुकी है। इन 13 किस्तों में लाडली बहना योजना की किस्तों की राशि में बदलाव नहीं किया गया है, लेकिन अब जब 14वीं किस्त लाड़ली बहनों को दी जाएगी तब लाडली बहना की राशि बड़ा करके ₹1500 प्रतिमाह कर दी जाएगी।

जरूरी सूचनालाड़ली बहनों के लिए
अगली 14वीं किस्त1500 रुपए
क़िस्त का समय जुलाई का महीना
14वीं किस्त की तारीख 5 से 10 जुलाई के बीच

लाडली बहनों को मिल चुकी है 13 किस्तें

अब तक मोहन यादव सरकार द्वारा लाडली बहनों को 13 किस्तें दी जा चुकी है। इन 13 किस्तों में प्रथम किस्त ₹1000 प्रति माह थी, तीसरी किस्त के बाद लाडली बहनों की राशि में बढ़ोतरी करके 1250 रुपए प्रति माह राशि दी जाने लगी, इस तरह अभी तक 13 किस्तें लाडली बहनों को दी जा चुकी है लेकिन अब 14वीं किस्त ₹1500 प्रतिमाह कर दी जाएगी, इसका एक निर्देश भी सरकार द्वारा जारी कर दिया गया है।

किस्त की राशि को बढ़ाने के आसार

लोकसभा चुनाव के दौरान भी मोहन यादव जी ने चुनाव प्रचार के दौरान लाडली बहनों की राशि 1250 रुपए से बढ़ा करके ₹1500 करने की बात की है। इससे पहले भी विधानसभा चुनाव के दौरान शिवराज मामा ने लाडली बहनों की राशि को ₹3000 प्रतिमाह करने तक का वादा किया था। मोहन यादव सरकार द्वारा लाडली बहनों की अगली किस्त जोकि 14वीं किस्त होगी जुलाई महीने में दी जाएगी और 250 रुपए उस किस्त में अधिक दिए जाएंगे। लाडली बहना योजना को लेकर मीडिया में एक आंकड़ा प्रस्तुत किया गया है जिसमें 1.29 करोड़ लाड़ली बहनों में से 75000 लाड़ली बहनों की संख्या केवल उम्र की वजह से कम हो गई है।

  • 1.29 करोड़ से घटकर 1.28 करोड़ लाडली बहनों की संख्या।
  • 1250 रुपए से राशि बढ़ाकर के ₹1500 प्रति माह।
  • 75000 लाडली बहनों की संख्या उम्र की वजह से कम।
  • मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो जुलाई माह में 1500 रुपए लाडली बहना की किस्त सरकार द्वारा प्रस्तावित।
  • लाडली बहना की किस्त धीरे-धीरे बढ़कर ₹3000 तक होगी शिवराज मामा के वादे को किया जाएगा पूरा।

इन्हें भी पढ़िए-

Leave a Comment