WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

इन्दिरा गाँधी वृध्दा पेंशन के फॉर्म भरके बुजुर्गों को दिलाएं 6000 सालाना

इंदिरा गांधी राष्ट्रीय वृद्धावस्था पेंशन योजना को शुरुआत करने के पीछे का उद्देश्य यह है कि सेवानिवृत्ति नागरिकों को आर्थिक रूप से सहयोग प्रदान करना लेकिन इस योजना की सबसे खास बात यह है कि सहयोग प्रदान करने से पहले उन नागरिकों से कोई भी तरह की राशि नहीं ली जाती । अर्थात यह एक अंशदाई पेंशन योजना है जिसमें लाभार्थी को पेंशन प्राप्त करने के लिए किसी भी तरह की राशि जमा नहीं करनी पड़ती।

हमारे देश में न जाने कई तरह की पेंशन योजनाओं को शुरू किया गया है जिसका उद्देश्य यही होता है कि उनका आर्थिक रूप से सहयोग कैसे दिया जाए आज के आर्टिकल में यही समझेंगे कि इंदिरा गांधी राष्ट्रीय वृद्धावस्था पेंशन योजना की शुरुआत क्यों की गई और यह किस तरह से लाभान्वित करती है।

इंदिरा गांधी राष्ट्रीय वृद्धावस्था पेंशन योजना के लाभ–

  1. भारत के ऐसे नागरिक जिन्होंने 60 वर्ष की आयु पूरी कर ली है उनको इस योजना के माध्यम से आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है जिसे पेंशन के नाम से जाना जाता है ।
  2. जिन नागरिकों की आयु 79 वर्ष तक पहुंच चुकी है उनके लिए एक महीने की पेंशन का भुगतान ₹200 किया जाता है और जिनकी आयु 80 वर्ष से पर कर चुकी है उनके लिए ₹500 प्रति महीना भुगतान किया जाएगा।
  3. पेंशन केवल किसी एक व्यक्ति के लिए लागू नहीं होती बीपीएल कार्ड में जितने भी व्यक्ति हैं सभी के लिए लागू होती है अपनी पात्रता के अनुसार सभी को इस योजना का लाभ दिया जाएगा जिनकी उम्र 60 वर्ष से ज्यादा हो चुकी है ।
  4. पेंशन मिलने से सबसे बड़ा फायदा तब होता है जब कोई परिवार आर्थिक रूप से कमजोर होता है और उसके पालन पोषण से लेकर अन्य व्यवस्थाएं किसी दूसरे के बस में होती हैं।

इंदिरा गांधी राष्ट्रीय वृद्धावस्था पेंशन योजना का लाभ लेने के लिए आवश्यक दस्तावेज –

  1. वोटर कार्ड
  2. राशन कार्ड
  3. आधार कार्ड
  4. बैंक पासबुक
  5. पासपोर्ट साइज फोटो
  6. मोबाइल नंबर
  7. राशन कार्ड
  8. आयु सत्यापन प्रमाण पत्र
  9. आय प्रमाण पत्र

इंदिरा गांधी राष्ट्रीय वृद्धावस्था पेंशन योजना की शुरुआत का विवरण–

इस योजना की शुरुआत 15 अगस्त 1995 को हुई थी जिसका प्रमुख आधार यही था कि 60 वर्ष के आयु पूरी करने के बाद ही किसी को पेंशन प्रदान की जाएगी। इस योजना की दूसरी शर्त यह थी कि अगर किसी नागरिक को इस योजना का लाभ लेना है तो उसके पास बीपीएल कार्ड होना चाहिए अर्थात वह गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करता हुआ होना चाहिए ।

इंदिरा गांधी राष्ट्रीय वृद्धावस्था पेंशन योजना का आवेदन कैसे करें?

इस योजना का लाभ लेने के लिए आवेदन करने वाले उम्मीदवारों को किन-किन दस्तावेजों की जरूरत पड़ेगी इसके बारे में मैंने ऊपर बताया है लेकिन अब बात करते हैं कि इसका आवेदन कैसे किया जाएगा?

आवेदन करने से पहले हमें यह जान लेना आवश्यक है कि किसके पास आवेदन जमा करना है तो सबसे पहली बात यह की हमारे पास जितने डॉक्यूमेंट हो उन सभी को एकत्रित करना है और उनकी एक-एक प्रति लेकर के लोक सेवा केंद्र पहुंच जाना है । लोक सेवा केंद्र पहुंचने के अलावा आप अपनी जनपद पंचायत या फिर नगर पालिका और नगर निगम के माध्यम से भी आवेदन कर सकते हैं । इस प्रकार के कार्यालय में जाने के बाद आप लोकसभा केंद्र की मदद से ऑनलाइन आवेदन करवा सकते हैं इसके बाद आपको इस योजना का लाभ मिलेगा।

Leave a Comment