WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

कक्षा 10वीं एवं 12वीं में फेल विद्यार्थियों के लिए रुक जाना नहीं फॉर्म भर रहे, अंतिम तारीख 5 मई

कक्षा दसवीं और बारहवीं के विद्यार्थियों के लिए एमपी बोर्ड की परीक्षा सबसे महत्वपूर्ण होती है जिसमें कई विद्यार्थी किसी कारण से अच्छा योगदान नहीं दे पाते हैं और परीक्षा में फेल हो जाते हैं उनके लिए सरकार के द्वारा रुक जाना नहीं योजना का मौका दिया जाता है जिसके तहत विद्यार्थी दोबारा से परीक्षा देकर अपना सुनहरा भविष्य बना सकते हैं और परीक्षा में पास हो सकते हैं । आज की आर्टिकल में हम बात करेंगे की 10वीं और 12वीं के विद्यार्थी किस तरीके से आवेदन कर सकते हैं और कौन-कौन विद्यार्थी इस योजना के लिए आवेदन कर सकते है

कौन-कौन विद्यार्थी दे सकते हैं परीक्षा –

अगर आप कक्षा दसवीं की परीक्षा देते हैं और उसमें किसी दो विषय में फेल हो जाते हैं तो आपको सप्लीमेंट्री की परीक्षा देना है लेकिन यदि आप दो विषय से अधिक विषय में फेल हो जाते हैं तो उसके लिए आपको रुक जाना नहीं योजना का फॉर्म भरना चाहिए और इसी के तहत परीक्षा देना चाहिए। जब कोई विद्यार्थी कक्षा दसवीं में तीन विषय में फेल हो जाता है तो वह इस योजना के तहत आवेदन कर सकता है और परीक्षा दे सकता है।

कक्षा 12वीं की विद्यार्थियों के लिए अगर बात कही जाए तो केवल एक विषय में अगर कोई विद्यार्थी फेल है तो वह सप्लीमेंट्री की परीक्षा दे सकता है लेकिन अगर दो विषय में या फिर दूसरी अधिक विषय में फेल हो जाता है तो वह इस योजना के तहत आवेदन कर सकता है और दूसरा मौका पास होने के लिए चुन सकता है।

रुक जाना नहीं परीक्षा फॉर्म कब से भरे जाएंगे –

5 मई से रुक जाना नहीं योजना के द्वारा सभी विद्यार्थियों की आवेदन किया जाना सुनिश्चित किया गया है तो जो भी विद्यार्थी इस योजना के तहत आवेदन करना चाहता है वह समय से अपना आवेदन कर दे। समय निकालने पर किसी का भी दोबारा से आवेदन नहीं होगा क्योंकि वह पोर्टल बंद हो जाता है।

रुक जाना नहीं की परीक्षा कब होगी–

रुक जाना नहीं योजना के माध्यम से अगर कोई विद्यार्थी आवेदन करता है तो उसके लिए ऑफिशल नोटिस जारी कर दिया गया है जिसमें 20 मई 2024 की तारीख निश्चित की गई है अर्थात 20 मई से रुक जाना नहीं योजना के माध्यम से आवेदन करने वाले विद्यार्थियों की परीक्षाएं शुरू हो जायेंगी।

क्यों होते हैं विद्यार्थी फेल ?

किसी भी विद्यार्थी के फेल होने का सबसे बड़ा कारण होता है कि उसने कभी भी पढ़ाई करने की कोशिश नहीं की और पेपर कॉपी में लिखने का भी प्रयास नहीं किया। जब कोई विद्यार्थी थोड़ा बहुत पढ़ाई करता है या फिर विद्यालय जाता है तो निश्चित रूप से वह इतना तैयार कर लेता है कि वह आसानी से पास हो जाएगा। फेल होने का दूसरा कारण यह भी होता है कि कभी इस प्रकार की विद्यार्थी पढ़ने का भी प्रयास नहीं करते और ना ही विद्यालय जाते हैं जिस वजह से वह फेल हो जाते हैं।

सप्लीमेंट्री फॉर्म भरेंगे 1 मई 2024 से : लास्ट डेट नजदीक, कक्षा 10वीं 12वीं

Leave a Comment